REET 2020: वेटेज का अनुपात हुआ कम, जानिए नया पैटर्न

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सरकार के दो साल पूरा होने पर करीब 11 लाख बेरोजगारों को रीट अध्यापक पात्रता परीक्षा तिथि की घोषणा करके उनको बहुत बड़ी सौगात दी गई। सीएम ने बताया की 25 अप्रैल 2021 रीट भर्ती का आयोजन किया जाएगा लेकिन इससे पहले भी रीट की तारीख का एलान हो चुका है इसके चलते रोजगार पाने वालों को इस भर्ती का बड़ी बेसब्री से इंतजार था।

रीट भर्ती से पहले विभिन्न वर्गों में उत्तीर्ण अंकों में 5 से 20 फीसदी तक राहत देने के आदेश जारी करने के साथ अब रीट और स्नातक के अंकों में भी एक बड़ा बदलाव किया है। रीट परीक्षा में अब अंकों के वेटेज को कम करके बहुत बड़ी राहत दी गई है। अब नये नियम के अनुसार रीट के अंतिम चयन में जहां 90 फीसदी अंकों का आधार त स्नातक के अंकों का आधार 10 फीसदी तय किया है।

इससे पहले आयोजित हुई रीट परीक्षा में वेटेज परीक्षा के 70 फीसदी और स्नातक के 30 फीसदी अंकों का आधार हुआ करता था जिसको लेकर सभी अभ्यार्थी लम्बे समय से स्नातक के अंकों को कम करने की मांग कर रहे थे। 31 हजार पदों पर लेवल-1 और लेवल-2 की परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित की जाएगी। परीक्षा में एनसीईटी के सिलेबस के साथ ही राजस्थान की जानकारी को ज्यादा जोड़ने की बात भी सामने आ रही है।

सामान्य-अनारक्षित टीएसपी और नॉन टीएसपी के लिए 60 प्रतिशत,
अनुसूचित जनजाति नॉन टीएसपी 55 प्रतिशत और टीपीएस में 36 प्रतिशत
एससी, ओबीसी, एमबीसी और ईडब्ल्यूएस के लिए एमपीएम 55 प्रतिशत
सभी श्रेणी में विधवा, परित्यक्ता महिला और भूतपूर्व सैनिक के लिए 50 प्रतिशत
दिव्यांग श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए 40 प्रतिशत
सहरिया जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए 36 प्रतिशत

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s