कोविड 19 – निजी लैब में आरटी-पीसीआर जांच की दर 800 रूपये होगी -मुख्यमंत्री अशोक गहलोत

आरयूएचएस अस्पताल में नए आईसीयू वार्ड, 6 जिलों में लैब, एमडीएम अस्पताल में कैंसर वार्ड का लोकार्पण
निजी लैब में आरटी-पीसीआर जांच की दर 800 रूपये होगी  -मुख्यमंत्री
संक्रमण को छिपाने से घातक हो जाता है कोरोना रोग 
***********************************
जयपुर, 28 नवम्बर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए आवश्यक है कि इसके संक्रमण को किसी भी स्तर पर छिपाया नहीं जाए, क्योंकि इलाज में देरी से यह रोग घातक हो जाता है। जिन लोगों ने कोरोना वायरस के संक्रमण को छिपाने के लिए समय पर जांच और इलाज नहीं करवाया, उन्हें बाद में गंभीर बीमार होकर अस्पताल में इलाज कराना पड़ा है।
 गहलोत शनिवार को राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (आरयूएचएस) अस्पताल, जयपुर में 70 बेड वाले नए कोविड आईसीयू, 6 जिलों में आरटी-पीसीआर टेस्ट लैब तथा मथुरादास माथुर अस्पताल, जोधपुर में अत्याधुनिक कैंसर उपचार वार्ड तथा अन्य चिकित्सा सुविधाओं के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में निजी लैब में आरटी-पीसीआर जांच की दर 800 रूपये प्रति सैम्पल की जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की अधिकाधिक जांच और समुचित इलाज के लिए पूरे राजस्थान में स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत किया गया है और अब हर जिले में आरटी-पीसीआर जांच की सुविधा उपलब्ध है। टोंक, प्रतापगढ़, राजमसन्द के नाथद्वारा, जैसलमेर, हनुमानगढ़ और बूंदी में टेस्ट लैब का वर्चुअल लोकार्पण करते हुए उन्होंने खुशी जाहिर की कि स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिलों में कोरोना की निशुल्क जांच के लिए लैब कार्यशील कर दी हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को बीमारी को छिपाने की बजाय समय पर जांच और इलाज करवाना चाहिए।
 हमारा लक्ष्य है कि कोरोना महामारी से लोगों का जीवन और आजीविका का बचाया जाए। इसके लिए सभी जनप्रतिनिधियों, संगठनों, संस्थाओं और व्यक्तियों से राजनैतिक मदभेदों को दूर रखकर सरकार के साथ खड़े होने तथा रचनात्मक सुझाव देने का आग्रह है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के खिलाफ जंग में शुरूआत से ही प्रदेश के हर वर्ग ने राज्य सरकार का भरपूर साथ दिया है, जिसके चलते हम राजस्थान मेें बेहतरीन प्रबंधन कर पाए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में राजस्थान और तमिलनाडु ही दो राज्य हैं, जहां कोरोना की जांच के लिए 100 प्रतिशत टेस्ट सबसे विश्वसनीय पद्धति आरटी-पीसीआर से किए जा रहे हैं। सभी जिलों में निशुल्क सरकारी जांच व्यवस्था के साथ ही हमने निजी लैब और अस्पतालों में न्यूनतम दर पर आरटी-पीसीआर जांच की व्यवस्था उपलब्ध करवाई है। अब निजी लैब में आरटी-पीसीआर जांच की वर्तमान दर को 1200 रूपये से घटाकर 800 रूपये प्रति सैम्पल किया जाएगा।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि आरयूएचएस अस्पताल में नए आईसीयू वार्ड के बाद अब यहां कुल 205 आईसीयू बेड उपलब्ध हो गए हैं। इस अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाओं से युक्त 70 बेड वाले आधुनिकतम आईसीयू वार्ड पर 8 करोड़ 10 लाख रूपये की लागत आई है। इसके साथ ही यहां 1,000 ऑक्सीजन बेड भी उपलब्ध हैं और सीटी-स्कैन की सुविधा शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता में राजस्थान अग्रणी राज्य बन गया है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s