राजस्थान की सियासत में अभी खेल बाकी हैं फ्लोर टेस्ट संभव – भाजपा की भी हैं पैनी नजरें

राजस्थान की सियासत में अभी खेल बाकी हैं सचिन पायलेट के जाते ही कांग्रेस संगठन होगा – धराशायी 

सचिन की ख़ामोशी के पीछे छिपे हैं कई राज – कांग्रेस हैं उससे चिन्तितं 

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी कर रहीं हैं मध्यस्ता – मुख्यमंत्री गहलोत व् सचिन पायलेट में 

नंबर गेम में छीपा है बड़ा रहस्य – अभी भी गहलोत खेमे के अंदर के विधायक रुख़ पर नज़र बनाएं रखे हैं किस ओर जायेगे यह बड़ा सवाल हैं 

********************************

राजस्थान सियासत पार्ट 2

पवन देव

जयपुर | राजस्थान की कांग्रेस सरकार में चल रही उठा पठक के बीच अभी कई दांव पेच बचे हैं बीते दिन मुख्यमंत्री गहलोत के शक्ति प्रदर्शन का रहा उन्होंने मुख्यमंत्री निवास पर विधायक दल की बैठक ली जिसके बाद सभी विधायको को  होटल में रुका दिया लेकिन सटीक विधायको की संख्या नहीं बता पायें कभी कहा 109 हैं तो कभी 113 लेकिन एक राय बाहर नहीं आ सकी देर रात सचिन पायलेट ने अभी एक विडियो  जारी कर दिया जिसमे  उनके साथ 17 विधायक दिख रहें हैं और वह अपने खेमे के 30 विधायक बता रहें हैं |

सचिन पायलट – 

सचिन पायलेट कांग्रेस में पिछले 6 से अधिक साल से प्रदेश अध्यक्ष पद पर कार्यरत हैं उन्होंने युवा शक्ति के साथ मिलकर कर संघर्ष भी किया हैं और 2018 से पहले चर्चा भी थी की कांग्रेस की सरकार बनती हैं तो मुख्यमंत्री पद के दावेदार होगे लेकिन कांग्रेस के पास सत्ता आने पर सचिन को आलाकमान ने दरकिनार कर गांधी परिवार के करीबी और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लम्बी जदोजहद के बाद मुख्यमंत्री बना दिया और सचिन पायलेट को उपमुख्यमंत्री बना दिया तब से ही अशोक गहलोत और सचिन पायलेट के बीच पॉवर गेम चल रहा हैं |

अगर सचिन अब कांग्रेस से दूर जाते हैं तो 

सचिन पायलेट अब कांग्रेस पार्टी को छोड़ते है तो उनके पास 2 रास्ते बचते हैं एक तो भाजपा में जायें जिसके संभावना कम है दूसरा अपनी नई पार्टी संगठन बनाने का जिसमे भी भविष्य क्या होगा कुछ तय नहीं है क्योकिं इससे पहले भी कई बड़े नेताओं ने अपनी पार्टी संगठन बनाया था लेकिन वह सफल नही हो सके लेकिन एक पहलु यह भी सचिन के जाने से कांग्रेस पार्टी कुछ हद तक युवा शक्ति के विरोध हो जायगी जिससे युवा कांग्रेस से दूर चला जायेगा यह कांग्रेस कभी नही चाहती और आगामी निगम – पंचायत चुनावों में भी कांग्रेस मात खा सकती हैं |

भाजपा ने दियें संकेत – फ्लोर टेस्ट हो 

कांग्रेस पार्टी के बीच चल रहीं जंग के बीच भाजपा ने भी दबी जुबा ही सही फ्लोर टेस्ट की मांग कर दी हैं वह कोई मौका नहीं छोड़ना चाहती आगामी कुछ दिनों में अगर कांग्रेस पार्टी बागी हो रहें सचिन पायलेट को बना नहीं पाती हैं तो राजस्थान में सत्ता परिवर्तन का खेल शुरू होगा और भाजपा पूरी कोशिश करेगी सत्ता हतियाने की |

 

विधायको का गणित – 

कुल विधायक – 200

कांग्रेस – 10 7

भाजपा -72

निर्दलीय -13 ( जहाँ सत्ता में जगह मिलगी )

आर एल पी – 3 ( भाजपा )

सी पी एम् -2 ( मोटे तौर पर कांग्रेस के साथ )

बी टी पी -2  ( जो भी सरकार बनेगी उस के साथ )

आर एलडी -1 कांग्रेस के साथ

नोट – सचिन पायलेट ने अभी वित् मंत्रलाय व् गृह मंत्रलाय व् मुख्यमंत्री पद व् साथ में प्रदेश अध्यक्ष पद की मांग कर रही हैं उपरोक्त सभी मांगो पर सहमती मुश्किल हैं इन मांगो को देखते हुयें सचिन का कोई मूंड नहीं लगता कांग्रेस में वापस आने का |

 

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s