अमेरिका में अश्वेत( नस्लभेदी ) की मौत पर देशव्यापी उग्र आंदोलन –

America seen once again – racist violence

हरीश खोलिया

नई दिल्ली | अमेरिका में नस्लभेद के नाम पर एक बार फिर आंदोलन शुरू हो गया हैं एक अश्वेत व्यक्ति को नकली बिल को लेकर पुलिस द्वारा मारपीट की गई जिसमे श्वेत व्यक्ति की मौत हो गई  जिसके बाद नस्लभेदी आंदोलन शुरू हो गया घटनानुसार ( मीडिया रिपोर्ट )

मिनिपोलिस में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड को नकली बिल और टेक्स चोरी के संदेह में श्वेत पुलिस ऑफिसर डेरेक चाउविन ने गिरफ्तार किया जिसके बाद पुलिस हिरासत में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत हो गई।पुलिस हिरासत में मौत के विरोध में अमेरिका के कई राज्यो में शांतिपूर्ण प्रदर्शन उग्र आंदोलन में बदल गए जब एक भयावह वीडियो वायरल हुआ . जिसमे श्वेत पुलिस अधिकारी डेरेक चाउविन ,जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन पर 9 मिनट तक घुटना रखे हुए दिखाई दे रहा हैं ।

जॉर्ज फ्लॉयड बार बार बोल रहे थे कि “में सांस नही ले पा रहा हूँ “लेकिन श्वेत पुलिस ऑफिसर ने उसकी एक न सुनी और उसकी मौत हो गई।

प्रदर्शनकारियो ने राष्ट्रव्यापी “ब्लैक लाइव्स मैटर्स” और “में सांस नही ले सकता” जैसे नारे लगाए, जो जॉर्ज फ्लॉयड ने आखरी शब्द भी थे।

प्रदर्शनकरियो ने दुकानों और कारो में तोड़फोड़ व आगजनी की  तथा कई जगह लूटपाट की घटनायें भी सामने आई हैं । यह आंदोलन देखते ही देखते पूरे देश में फैल गया .25 शहरों में लोगो को घरों के अंदर रहने के आदेश दिए गए है। क्योंकि संयुक्त राज्य अमेरिका में जातिय हिंसा के विरोध में वर्षो से ऐसा राष्ट्रव्यापी आंदोलन नही देखा गया . इसी बीच राष्ट्रपति ने हिंसा को हर हाल में रोकने के आदेश प्रशासन को दिए।अशांति को नियंत्रित करने के लिए राष्ट्रीय गार्ड सेनिको को बुलाया गया . दसियों हजार प्रदर्शनकारी अपना विरोध दर्ज करवाने सड़कों पर उतरे हैं लॉस एंजेलिस में अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों पर रबर की गोलियां चलाईं व लाठीचार्ज किया। शिकागो व न्यूयॉर्क सहित कई शहरों में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस के बीच झड़प हुई जिसमे पुलिस ने पेपर स्प्रे का इस्तेमाल किया साथ ही बाकी के शहरों में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन भी हुए।

वाइट हाउस के आसपास राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड को तैनात किया गया है श्वेत पुलिस ऑफिसर डेरेक चाउविन की गिरफ्तारी हो चुकी है लेकिन शांति प्रदर्शन अभी भी नही रुक रहे है। इस पूरे प्रदर्शन में देखा गया कि अमेरिका के श्वेत नागरिक भी बड़ी संख्या में विरोध प्रदर्शन में बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहे है। श्वेत नागरिको ने प्रदर्शनकरियो और पुलिस के बीच मानव श्रंखला बना कर अपना विरोध दर्ज किया और अपने देश से रंगभेद और जातिवाद जैसी विभाजनकारी मानसिकताओं को खत्म करने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s