गांधी जी की पुण्यतिथि पर – गांधी के सिद्धांतो की हत्या -उसी सोच द्वारा जिन्होंने गाँधी के पैर छु कर उन्हें गोली मारी थी

“Rambhakta Gopal”, associated with Hindu organization, fired on the students of Jamia with a slapstick – why did the police stand with their hands?

जामिया के छात्रों पर हिन्दू संगठन से जुड़े ” रामभक्त गोपाल ” ने तमचे से गोली चलाई – पुलिस हाथ बांधे खड़ी रही आख़िर क्यों- 

नई दिल्ली | जामिया विश्वविधालय के बाहर उस वक्त ने देश को झकझोर दिया जब जामिया विश्वविधालय के छात्र -छात्रायें  कुछ इक्कटा हो कर ” महात्मा गाँधी की पुण्यतिथि पर राजघाट जाना -जा रहे थे प्रशासन द्वारा अनुमति नहीं दियें जाने पर उन्हें जामिया नगर पुलिया के पास ही रोक लिया गया .

 

उन्ही छात्रों के बीच से हिन्दू संगठन का एक छात्र   रामभक्त गोपाल निकलता है और आज़ादी का नारा लगा रहे स्टूडेंटस पर पुलिस के सामने ही तमचा निकाल कर छात्रों पर गोली दाग देता है  , अपराधी छात्र  ” रामभक्त गोपाल ” बताया गया और वह हिन्दू संगठन – हिन्दू सेना से जुड़ा बताया जा रहा है उसका संबध दीपक शर्मा से भी बताया जा रहा है जो पहले से ही विवादित रहा है |

क्या मायनें है इस दुखद घटना का – 

इस घटना को आप मात्र अपराधी तक सीमित नहीं कर सकते क्योकिं जब अपराधी छात्र तमचा ले कर छात्रों के समूह में घुस सकता है और अगर यह मार्च राजघाट पहुँच जाता और उस वक्त यह घटना हुई होती तो कितना शर्मशार होता की अहिंसा के पुजारी की समाधिस्थ पर उसी दिन  30 जनवरी को गांधी के विचारों की  एक बार फिर हिन्दू आतंकी मानसिकता के लोगों ने एक बार फिर हत्या कर दी  .

यह अंधी भक्ति और कट्टरपंथियों की सोच देश को बाँट रही है जिसका बड़ा नुकसान देश पर हो रहा है लेकिन केंद्र सरकार के मंत्री ही जब गोली मारों सालो का नारा लगाता हो तो – उनके अनुयाई ही तो तमचा चलाएंगे |

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s